Popular Whatsapp Hindi Status

639

Here are lots of awesome and best collected Facebook Status and Quotes in Hindi for the Facebook and WhatsApp loving people. You can easily share them with other and your related too and tag theme to a particular person. Status3K is providing the best Hindi Facebook and WhatsApp status and sayings. Try it to get more likes and comments.

Great Hindi Status for Whatsapp Facebook

~ महाकाल से प्रार्थना ~

हे महाकाल ! उज्ज्वल भविष्य की रचना के लिए अपने संकल्प को
पूरा करने के लिए हमें उपयुक्त शक्ति, मनोवृत्ति तथा प्रेरणा दें ।
हे प्रभु ! हमारे संकल्प पूरे हों। हम सुख-सौभाग्य, श्रेय-पुण्य
तथा आपकी कृपा के अधिकारी बने। आपसे दिवस अनुदान पाने
और उन्हें जन-जन तक पहुँचने की हमारी पात्रता बढ़ती रहे।

ड्राइव करते वक़्त ध्यान रखें की सिर्फ आप ही ड्राइव नहीं कर रहे,
रोड पर और भी वाहन हैं, घर पर कोई आपका इंतज़ार भी कर रहा है,
अगर अपने गंतव्य स्थान पर थोड़ा लेट हो जायेंगे,
तो दुनिया खत्म नहीं हो जाएगी।  यह भी याद रखें की ~
* ड्राइविंग लाइसेंस नियमानुसार ही प्राप्त करें ।
* हमेशा हेलमेट पहनकर ही अपना वाहन चलायें ।
* कभी भी शराब पीकर वाहन ना चलायें ।
* कभी भी रेड लाइट जम्प न करें ।
* वाहन चलाते समय हमेशा सीट बेल्ट का प्रयोग करें ।
* अपने वाहन को सेफ स्पीड पर चलायें ।
* वाहन चलाते समय मोबाइल फ़ोन का प्रयोग नहीं करें ।
* हॉर्न का प्रयोग आवश्यकता पड़ने पर ही करें ।
* वाहन चलाते समय कभी भी जल्दबाजी नहीं करें ।
* सड़क दुर्घटना के शिकार लोगो की हर संभव मदद करें ।

मैंने अपने नाराज़ दोस्त से पूछा ~ गुस्सा क्या हैं ? उस ने कहा ~ दूसरे की गलती की सजा खुद को देना गुस्सा हैं।

इश्क़, मुश्क, खांसी और खुजली छिपाए नहीं छुपती।

उधारकर्ता ऋणदाता के लिए नौकर के समान है।

मैं गरीब नहीं हूँ क्योंकि मुझे मेहनत से कमाना और सुकून से सोना आता है गरीब तो वे लोग हैं जिन्हे बेईमानी भ्रष्टाचार और रिश्वत से भी संतुष्टि और चैन नहीं मिलता, और सदैव ही अनिद्रा और भय से घिरे रहते हैं।

बुरी संगत उस कोयले के समान है जो गर्म हो तो हाथ जला देती है और ठंडा हो तो काला कर देती है।

संसार में पानी से सरल कुछ भी नही है, किंतु उसका तेज बहाव बड़ी से बड़ी रुकावट के टुकड़ेटुकड़े कर देता है

इससे पहले कि सपने सच हों आपको सपने देखने होंगे

जो कहते थे मुझे डर है, कहीं मैं खो दूँ तुम्हे, सामना होने पर मैंने उन्हें चुपचाप गुजरते देखा है।

शायद कोई तराश कर किस्मत संवार दे, यह सोचकर हम उम्र भर पत्थर बने रहें।

पुरानी पीढ़ी: – नेकी कर दरिया में डाल। नई पीढ़ी: – कुछ भी कर WhatsApp पर डाल।

शंका करने से शंका बढ़ती है, विश्वास करने से विश्वास ही बढ़ता है, ये आपकी इच्छा है की…. आप किस तरफ बढ़ना चाहते है ?

खूबसूरत था इस कदर कि महसूस ना हुआ… , की कैसे, कहाँ और कब मेरा बचपन चला गया

अगर कोई पूछे की जिंदगी में तुमने क्या खोया क्या पाया ? तो बेझिझक कह देना…. जो कुछ खोया वो मेरी नादानी है, और जो पाया वो मेरे रब की मेहरबानी है।

निंदा आकाश की ओर फेंके गये उस पत्थर के समान है, जो लौटकर उसी पर गिरता है, जिसने उसे फैंका था

फूल की तरह दिखिए, औरतों की तरह अभिनय कीजिये, आदमियों की तरह सोचिये, और काम कीजिये Boss की तरह !

खाली जेब, भूखा पेट और झूठा प्रेम, इंसान को जीवन में बहुत कुछ सिखा जाता है।

क्या आप कभी माँ से कहते हैं – “माँ ! कैसी हो ?” इतना सुनने से ही माँ को सब कुछ मिल जाता है.. है ना ?

आलस्य से बढ़कर अधिक घातक और अधिक समीपवर्ती शत्रु कोई और नहीं

मौत एक आरामगाह, कड़ी धूप के बाद छाँह, जीत नहीं सकते तुम, यह काल की है बांह !

अच्छे रिश्ते यूं ही घटित नहीं होते बल्कि समय, धैर्य और विश्वास कि धरती पर पनपते हैं।

जो दूसरों के लिये गड्ढा खोदते हैं, वो खुद भी एक दिन उसी गड्ढे में गिरता हैं।

प्रत्येक कडकडाती बिजली गिरती नहीं, और अगर गिरती भी है तो जरुरी नहीं की हम पर ही गिरे !

जब छोटे थे हम जोर से रोते थे, जो पसंद होता था उसे पाने के लिए। जब बड़े हो गए तो चुपके से रोते हैं,   जो पसंद है उससे भुलाने के लिए।

पहले झूठ बोलना पाप था, अब झूठ बोलना मजबूरी और ज़रूरी है।

भाड़ में जाओ ! मैं तुम्हारे लिए नहीं रोउंगी ! मेरी मुस्कराहट तुमसे ज्यादा जरुरी है !

~ इतनी भी शिकायत मत कीजिये ~ हमें जो मिला हैं, हमारे भाग्य से ज्यादा मिला हैं।  यदि हमारे पैर में नए जूते नहीं हैं, तो अफ़सोस मत कीजिये।  …

जो वासना से मुक्त हो गया वह ही मुक्त है !

दुनिया की सबसे बड़ी बीमारीलोग क्या कहेंगे?”

जिंदगी तो अपने ही दम पर जी जाती है, दूसरों के कन्धों पर तो जनाज़ा उठा करते हैं।

आधी अधूरी जानकारी बहुत महंगी पड़ती है।

भूतों से डर लगता है….? याद रखिये भूतों से सिर्फ उन्हें डर लगता है जो उनके बारे में सोचते हैं।

मुझ से बदनसीब कौन होगामेरी कंधे पे सिर रख कर वो रोया भी तो किसी और के लिए ..!

ज्ञान शांत स्थानों में पनपता है।

यकीन होने पर कोई प्रश्न नहीं होता, और बिना यकीन के कोई उत्तर नहीं होता।

इतना याद आया करो, कि रात भर सो सकें। सुबह को सुर्ख आँखों का सबब पूछते हैं लोग।

जो व्यक्ति हमेशा अपनी मृत्यु के सत्य को समझता है, वह सदा अच्छे कार्य में लगा रहता है।

Selfish मुझे कौन याद करेगा इस भरी दुनिया में, हे ईश्वर ! बिना मतलब के तो लोग तुझे भी याद नहीं करते…!

अनपढ़ मेरे गाँव का गाय चराने जाये, पढ़ालिखा तू शहर का कुत्तों को टहलाय।

जिंदगी तेरे ख़्वाब भी कमाल के हैंतू ग़रीबों को उन महलों के सपने दिखाती है, जिसमे अमीरों को नींद नहीं आती …..

यहाँ कोई भी आपका सपना पूरा करने के लिए नहीं है! हर कोई अपनी तकदीर और अपनी हक़ीक़त बनाने में लगा है ! – ओशो

जीवन मिलना यह भाग्य पर निर्भर है, किंतु मृत्यु के बाद भी लोगों के दिलों में ज़िंदा रहना यह अपने कर्मों पर निर्भर है

हमारे साथ अधिकतर समस्या यही होती है की की हम झूठी तारीफ द्वारा बर्बाद हो जाना तो पसंद करते हैं, लेकिन सच्ची आलोचना द्वारा संभल जाना नहीं !

आईना देखा जब, तो खुद को तसल्ली हुई, ख़ुदग़र्ज़ के ज़माने में कोई तो जानता है हमें।

समय, सत्ता, संपत्ति और शरीर चाहे साथ दें या ना दें, लेकिन स्वभाव, समझदारी, सत्संग और सच्चे संबंध हमेशा साथ देते हैं ….

यहाँ तहजीब बिकती है,   यहाँ फरमान बिकते हैं, तुम कीमत तो लगाओ, यहाँ इंसान बिकते हैं।

कभीकभी किसी बड़ेमॉलसे सब्जी या फल खरीदने के बजाये आप किसी गरीब मज़दूर से खरीदें क्योंकि इनका मकसद किसी बड़े मॉल को बनाना या करोड़ो कमाना नही बल्कि सिर्फ अपने परिवार का पेट पालना है।

दुष्ट के आगे गिडगिडाने से वह नहीं मानता, बल्कि थप्पड़ से सीधा होता है ! गांधीजी की शख्सियत और थी !

ज्यादा खाने से पेट ख़राब हो जाता है और ज्यादा बकबक से दिमाग।

अच्छा स्वास्थ और अच्छी समझ सबसे बड़ा धन है।

संसार में गऊ बनने से काम नहीं चलता, जितना दबो लोग उतना ही दबाते हैं !

आईना देखा तो तसल्ली हुईवरना इस जमाने में कोई तो जानता नहीं हमें।

जंज़ीरअपनी सबसे कमजोर कड़ी जितनी ही मजबूत होती है।

नहीं भूलती दो चीज़ें, चाहे जितना भुलाओ, एक घाव, एक लगाव….

एक बार सच कहने के बाद कभी भी सफाई नहीं दें। आपके दोस्तों को इसकी आवश्यकता नहीं है, और आपके दुश्मनों को विश्वास ही नहीं होगा।

समय बर्बाद करना समय की हत्या नहीं, बल्कि खुद की आंशिक आत्महत्या है।

जिस व्यक्ति के पास कल्पना शक्ति नहीं है, यानी उसके पास पंख नहीं हैं।

सम्मान सबका करो, किन्तु विश्वास केवल उनका जो प्रमाणिकता की कसौटी पर अनेकों बार परखे जा चुके हैं।

किसी का सरल स्वभाव उसकी कमज़ोरी नही होता है।

किसी को अपना बनाने के लिये हमारी सारी खूबियाँ भी कम पड़ जाती हैं जबकि किसी को खोने के लिए एक कमी ही काफी हैं !

सब कुछ कमाना जिल्लत को छोड़कर, सब कुछ गंवाना इज्जत को छोड़कर, किसी को चाहिए कुछ तो देना जरूर क्यूंकि, सबको जाना पड़ता है सब कुछ छोड़कर।

जो तुम आज हो वो तुम अपने कल के कारण हो, और जो तुम आने वाले कल में होंगे, वो तुम्हारे आज के काम पर निर्भर करता है।

Next Page